Micro Solar Grid

माइक्रो-सोलर ग्रिड्स भारत में ऊर्जा की बढ़ती मांग को पूरा कर सकते हैं

 

माइक्रो सोलर ग्रिड को आप एक बड़े पावर प्लांट का एक छोटा रूप मान सकते हैं। हम यह भी कह सकते हैं, कि माइक्रो सोलर ग्रिड राष्ट्रीय बिजली ग्रिड के समान काम करते हैं। जिसमे एकमात्र अंतर यह है कि ये बहुत कम उपभोक्ताओं के छोटे से समूह को बिजली प्रदान करते हैं। जबकि राष्ट्रीय ग्रिड बड़े पैमाने पर बिजली की आपूर्ति करते हैं।

भारत को माइक्रो सोलर ग्रिड्स की आवश्यकता क्यों है?

 

बिजली मानव जीवन का एक अनिवार्य हिस्सा है, और भारत के संविधान के अनुच्छेद 21 (मदन लाल बनाम हिमाचल प्रदेश राज्य के अनुच्छेद 21 के तहत जीवन का अधिकार) में “Right to Life” के तौर पर भी इसका उल्लेख किया गया है।

सौभाज्य और उज्ज्वला जैसी पहलों की मदद से, भारत ने लगभग universal electrification का लक्ष्य हासिल कर लिया। इसका मतलब है कि अब यहाँ का हर जिला और हर गाँव बिजली ग्रिड से जुड़ा हुआ है। अब देश का हर एक गाँव में बिजली की पहुँच है। जिसको हासिल करने के लिए देश ने बहुत मेहनत की।

हालांकि, देश ये दावा करता है, कि प्रत्येक व्यक्ति एवं स्थान पर बिजली की उपलब्धता है, लेकिन इन दावों की विश्वसनीयता और बिजली आपूर्ति की गुणवत्ता अभी भी सवालों के घेरे में है। रिपोर्ट के आंकड़ों के अनुसार, अभी भी यहाँ 300 मिलियन से अधिक लोगों के पास उनके घरों और अपने कार्यस्थल पर बिजली की पहुंच नहीं है। लाखों लोगों के पास आज भी बिजली की reliable एवं quality supply नहीं है। 

जब हम बिजली की quality को देखते हैं, तो हम पाते हैं कि कभी-कभी बिजली की इनपुट वोल्टेज 90 वोल्ट से कम होती है। हमारे उपकरण 220-230 वोल्ट पर चलने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं। यह बहुत कम वोल्टेज (90 वोल्ट) उपकरणों को बहुत गंभीर नुकसान पहुंचा सकता है, एवं पहुँचता भी है|

राष्ट्रीय ग्रिड ट्रांसमिशन लाइन का infrastructure भी चिंता का विषय है। ट्रांसमिशन लाइन को स्थापित करने की लागत बहुत अधिक है। 

बिजली उत्पादन और transmission side के अलावा, बिजली की बढ़ती मांग भी चर्चा का एक बहुत बड़ा विषय है। भारत द्वारा उपयोग किए जाने वाले अधिकांश उपकरण बिजली की खपत के मामले में अत्यधिक अक्षम हैं। बिजली की खपत के लिए बिजली उत्पादन का अनुपात स्थिर नहीं है।

माइक्रो सोलर ग्रिड के लाभ:

 

  • जैसा कि हम पहले से ही जानते हैं कि बिजली के उत्पादन और मांग के बीच एक अंतर है। उस परिदृश्य में, ये माइक्रो सोलर ग्रिड कम्युनिटी को पावर सलूशन प्रदान करके इस अंतर को समाप्त कर सकते हैं।
  • साथ ही ये माइक्रो-सोलर ग्रिड राष्ट्रीय ग्रिड को लंबे समय तक कार्य करने में मदद करेंगे। क्यूंकि जो कम्युनिटी इन माइक्रो-सोलर ग्रिड से बिजली की खपत कर रहा है, वह अब राष्ट्रीय ग्रिड पर निर्भर नहीं रहेगा,जिससे राष्ट्रीय ग्रिड पर लोड कम होगा| जो बेहतर आउटपुट प्रदान करने में सहायक होगा|
  • इन माइक्रो सोलर ग्रिडों का सबसे अच्छा हिस्सा यह है कि वे ग्राहकों की आवश्यकताओं के अनुसार विकसित किए जाते हैं। उनकी बिजली पैदा करने की क्षमता 10 किलोवाट से 100 किलोवाट तक भिन्न हो सकती है और यह अनुकूलता इसे अधिक कुशल बनाती है।

ये माइक्रो सोलर ग्रिड के उपयोग एवं लाभ के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी थी| यदि आपको ये जानकारी पसंद आयी हो या आप किसी भी तरह का सुझाव देना चाहते हों, तो कमेंट बॉक्स में कमेंट के जरिये बता सकते हैं| महत्वपूर्ण जानकारियों के लिए जुड़े रहें Ornate Solar से|